आपके लक्ष्य क्या हैं ? what are your goals in life

आपके लक्ष्य क्या हैं ? what are your goals in life

What are your goals in life : लक्ष्य वह साधन है जिनसे सपने हक़ीक़तों में साकार किए जाते हैं। लक्ष्य वह परिणाम है जो आप हासिल करना चाहते हैं और उसकी दिशा में आप अपने प्रयास केंद्रित रखते हैं ,अर्थात् बनाए रखते हैं ।

लक्ष्य भविष्य का एक संकेतक है , जो आपको खींचता है । आपकी सपनों की ओर, आपके लक्ष्य की ओर ।आपको किस तरफ जाना है यह आपकी सपना और विचारों को योजना में बदल देता है और आपकी क्षमताओं को उन उद्देश्यों के प्रति खींचता है।

आप कैसा लक्ष्य लेते हैं?

चुके है क्या ? हम वही बन जाते हैं जिस बारे में हम गहरी सोच रखते हैं।

एक बात जीवन में जरूर ध्यान देना होगा। लक्ष्य की ओर जब हम बढ़ते हैं तो नकारात्मक विचार लाते हैं, तो नकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न होता हैं और सकारात्मक विचार लाते हैं तो सकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न होता है अर्थात् हम अच्छा सोच लाते हैं तो अच्छा होता है और अगर बुरा सोच लाते हैं तो बुरा ही होता है। इसका ऑटोमेटिक सिस्टम बना हुआ है ।

अपने जीवन को आप किस ओर ले जाना चाहते हैं , आपको लक्ष्य सीधा एक डीप आत्मविश्वास के साथ लक्ष्य लेकर चलना होगा। लक्ष्य विहीन व्यक्ति बिना पतवार की नाव की तरह है ,जो यूँ ही लहरों में इधर-उधर बहती हुई निरंतर किसी चट्टान से जाकर टकराती है।

हमें खुद को दृढ़ निश्चय कर के देखना चाहिए कि हमें किस तरफ जाना है , हम अपने प्रगति पथ को योजना बना सकते हैं और एक से दूसरे उपलब्धियाँ हासिल करते हुए अपनी सफल यात्रा को दूरगामी बना सकते हैं ।

आप अपने लक्ष्य को ऐसा साधें जैसे एक समुद्री जहाज का कप्तान समुद्री रास्ते से हजारों मीलों को तय करते हैं , जबकि मंज़िल देख नहीं सकता ।

लेकिन फिर भी उसे पता होता है कि मंज़िल कहाँ है और यह भी है कि यदि वह सही पथ पर चलता रहा तो अंततः वह अपनी मंज़िल तक अवश्य पहुंच जाता है।

लक्ष्य की ओर बढ़ना

लक्ष्य को मजबूत सार्थक रूप देने और उसमें कोई वास्तविक आकर्षण-शक्ति होने के लिए हमें बहुत दृढ़ होना चाहिए। मानव मन, धुंधले,साधारण विचारों पर केंद्रित नहीं हो सकता और कार्य नहीं कर सकता।

आपके दिमाग में लक्ष्य शक्ति जितनी की स्पष्ट होगी, उतनी ही छवि के लिए प्रेरक शक्ति उत्पन्न करेगी।

एक अध्ययन में चिंताजनक परिणाम यह पाया गया है कि आज के समाज में जहाँ अधिकांश लोग अपना अच्छा करने का प्रयास कर रहे हैं ।

केवल 4% लोग ही अपनी लगभग पूरी गहरी सोच के अनुसार प्रदर्शन कर पाते हैं। इसीलिए अपने कार्य में विश्वास से बढ़कर अपनी आंतरिक प्रेरणा से प्रेरित होना बहुत महत्वपूर्ण है और फिर उपलब्धियाँ हासिल करने वाले अन्य लोगों से प्राप्त ज्ञान से खुद को सशक्त करें , जो बताता है कि राह में प्रत्येक कदम पर क्या कार्यवाही करें । अपने शुरुआती लक्ष्य लेकर अपने अंतिम लक्ष्य तक की बिंदु तक का हिसाब रखें।

विशिष्ट लक्ष्य अधिक मजबूत होते हैं क्योंकि वे अधिक विस्तार से सोचे गए होते हैं और अधिक ठोस होते हैं ।

आगे बढ़ने से पहले सोचें

अपने लक्ष्य निर्धारित करने में आप जितना ही अधिक समय लगाएंगे और सोच विचार करेंगे , आप द्वारा उन्हें हासिल करने की संभावना उतनी ही अधिक रहेगी । अनेक विशेषज्ञ लक्ष्यों को लिख लेने की सलाह क्यों देते हैं ?

लक्ष्य मजबूती का 5 सूत्र हर समय ध्यान में रखना चाहिए

विशिष्ट ( Specific)
मापनी (Measurable)
प्राप्ति योग्य (Achievalble)
यथार्थवादी. (Realistic)
समय संबंधी (Time-Related)

आप को यह पता है । लक्ष्य प्राप्त करने के लिए आप की कार्य योजना क्या है ? या यह लक्ष्य इतना स्पष्ट है कि आपको यही पता नहीं है कि शुरुआत कैसे करें।

मापनीय – आपको कैसे पता चलेगा कि आपने अपना लक्ष्य हासिल कर लिया या नहीं ? क्या यह इस लक्ष्य में आप को मापने के लिए कुछ ठोस तथ्य मिलता है ? बचत की जाने वाली धनराशि पर ,पढी़ जाने वाली किताबों की संख्या, चलने की दूरी ?

प्राप्ति योग्य – क्या यह करने लायक हैं ? क्या आप वास्तव में इस लक्ष्य पर आगे बढ़ सकते हैं ? या आप खुद को विफलता के मार्ग पर पहुंचा रहे है ?

यथार्थवादी – क्या आप के मूल्यों , कुशलताओं और रुचियों के हिसाब से यह लक्ष्य संभव और वांछनीय है ? आप के तौर-तरीकों के अनुसार क्या यह आपकी दिनचर्या और आर्थिक स्थिति के अनुसार उपर्युक्त है ? आपके व्यक्तित्व के अनुसार आपके दूसरे लक्ष्यों के अनुसार ।

समय संबंधी – क्या इस लक्ष्य की कोई समय सीमा है ? जब आप आकलन कर सकें कि आपने इसे प्राप्त किया या नहीं । क्या यह आपको अभी शुरुआत करने की प्रेरणा देता है ? या भविष्य में कभी शुरूआत किया जाएगा ?

किसी लक्ष्य के सही तरह से तय करने के लिए इनमें से प्रत्येक स्मार्ट तत्व मौजूद होना चाहिए । जैसे उदाहरण के लिए माना कि वजन घटाना आपका लक्ष्य है।

यह लक्ष्य प्राप्ति योग्य है और कदाचित यथार्थवादी है, लेकिन यह विशिष्ट माननीय या समय संबंधी नहीं है ।आप कितना वजन घटाना चाहते हैं और कितने समय में, इसके लिये यह कोशिश करें अगले 15 सप्ताह तक अपने आहार की निगरानी करके और भोजन के आधे घंटे तक टहल कर । हर हफ्ते आधा किलो वजन कम करूँगा ।

यह लक्ष्य विशिष्ट यथार्थवादी और समय संबंधी है। यह निश्चित रूप से मापनीय है । पन्द्रह सप्ताह की अवधि में दो किलो वजन घटाना है । यह प्राप्ति योग है । क्योंकि एक तर्कसंगत लक्ष्य तय किया गया है । अब यह एक सुनियोजित लक्ष्य है।

अल्पकालीन और दूरगामी लक्ष्य क्या है ? देखें।

अल्पकालीन लक्ष्य की समय सीमा छोटी होती है। अल्पकालीन लक्ष्य वह चीजें होती हैं जिन पर आप आज ,कल ,अगले सप्ताह काम करते हैं । वह प्रायः ऐसे लक्ष्य होते हैं, जो एक साल में हासिल किए जा सकते हैं।

दूरगामी लक्ष्य – दूरगामी लक्ष्य भविष्य संबंधित होता है । इस लक्ष्य में वही बातें आती हैं जो आपको एक, दो या कई वर्षों में करना होता है । दूरगामी लक्ष्य आपके जीवन के प्रमुख लक्ष्य होते हैं । आपकी पढ़ाई पूरी करना, कोई मकान खरीदना, परिवार का पालन -पोषण करना या नौकरी बदलना आदि ।

0बहुत सारी बातें प्राय: दूरगामी लक्ष्यों में शामिल होती हैं । दूरगामी लक्ष्यों के लिए बहुत धैर्य की जरूरत पड़ सकती है । लेकिन वह अंततः उतनी ही संतुष्टि भी दे देती है । हर दिन आपको अपने आप से पूछना होगा कि खुद को दूरगामी लक्ष्यों की ओर ले जाने के लिए आपने क्या किया ?

अपने मार्ग पर बने रहें :

एक बार अपने लक्ष्य तय करने के बाद उसे पूरा करने का संकल्प बनाएँ। अपना लक्ष्य लिखें और सुबह -शाम उन्हें इस तरह देखें जैसे कि आपने पहले ही उन्हें प्राप्त कर ही लिया है।

लक्ष्मी प्राप्ति हेतु हर संभव प्रयास करें कभी भी कोशिश ना छोड़ें ।

सोच हर वक्त सकारात्मक रखें।

एक समय दो लक्ष्य नहीं बनावें उसमें आप असफल हो सकते हैं। इसलिए एक लक्ष्य को पूरा कर लेने के बाद ही दूसरा लक्ष्य की तैयारी करें।

अनुभव और आत्म ज्ञान

हासिल करने के साथ अपने लक्ष्यों को समायोजित ना करना । आपकी प्रगति बंद कर सकता है। कुछ लोगों को बचपन से ही पता होता है कि वह अपने जीवन से क्या चाहते हैं , लेकिन ज्यादातर लोगों को एक दिशा हासिल करने में समय लगता है। लेकिन धैर्य और विश्वास के साथ जो अपने लक्ष्य पर बने रहते हैं , उसकी सफलता कदम चूमती है।
इसलिए किसी शायर ने कहा है:

हौसला बुलंद हो तो,

आँधियों में भी, चिराग जला करते हैं।

तो दोस्तों हम उम्मीद करते हैं की आपको आज का यह आर्टिकल आपके लक्ष्य क्या हैं ? what are your goals in life काफी पसंद आया होगा और इसे आप अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करना चाहेंगे ।

Our Other Article :

भारत के संविधान निर्माण के पीछे की काली सचाई 

बिल गेट्स की सफलता की कहानी

आदर्श स्वस्थ जीवनचर्या कैसे बनाये 

जिंदगी  क्या है ? बता  पता है

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.